दो जवान बेटियों की हत्या करने वाले दंपति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया,,,,,,,,,,मां तो अपनी बेटियों की लाश के बगल में गाना गाकर डांस कर रही थी

 चित्तूर। आंध्र प्रदेश के चित्तूर स्थित मदनपल्ली में एक गुप्त अनुष्ठान के तहत अपनी दो जवान बेटियों की हत्या करने वाले दंपति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। रविवार को जब पुलिस इस दंपति के घर पर पहुंची थी तो वह भी हैरान रह गई क्योंकि अंदर जो बेटियों की लाश पड़ी हुई थी और मां-बाप के चेहरे पर शिकन तो दूर की बात, वो खुश हो रहे थे। मां तो अपनी बेटियों की लाश के बगल में गाना गाकर डांस कर रही थी


। ऐसी हरकतें देखकर पुलिस भी चकित रह गई।

इस दौरान वो बोल रही थी कि कोरोनावायरस चीन में पैदा नहीं हुआ है, उसे भगवान ने कलियुग में बुरे लोगों को खत्म करने के लिए बनाया है। वहीं जब पुलिस महिला को कोविड टेस्ट के लिए अस्पताल लेकर गई तो उसने अपना सैंपल देने से मना कर कर दिया और कहा कि वो खुद मानव रूप में कोरोनोवायरस है और टेस्ट की कोई आवश्यकता नहीं है।

 नाचने पर किया मजबूर

रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने कहा कि मृतक बेटियों सहित पूरा परिवार पूरी तरह से किसी अंधविश्वास में लिप्त था। रविवार की रात पुलिस ने मृतक बेटियों पिता के एक सहयोगी द्वारा दी गई सूचना के बाद दंपति को अरेस्ट किया था। दंपति ने अपनी बड़ी बेटी अलेखा को उसके सिर डंबल का इस्तेमाल करके मारा था जबकि छोटी बेटी साईं दिव्या पर त्रिशूल से वार किया गया था। जब पुलिस वहां पहुंची तो हैरान रह गई और दंपति दावा करने लगे कि दोनों बेटियां सुबह तक जीवित हो जाएंगी।

पुलिस ने मामले में लड़कियों के पिता वी पुरुषोत्तम नायडू को आरोपी नंबर 1 और मां पद्मजा को आरोपी नंबर 2 का नाम दिया है। रविवार को दंपति ने अपनी बेटियों अलेख्या (27) और साई दिव्या (22) की बेरहमी से हत्या कर दी थी। मदनपल्ली के डीएसपी ए रवि मनोहरचारी से कहा कि पुलिस और डॉक्टरों को पद्मजा का मेडिकल टेस्ट करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। पद्मजा ने दावा किया था कि वो भगवान शिव का रूप थीं। बाद में दोनों आरोपियों को स्थानीय मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया था और बाद में तिरुपति के एसवीआरआर सरकारी सामान्य अस्पताल में मनोरोग वार्ड में भर्ती कराया गया।

इस दंपति ने पुलिस को बताया था कि उन्हें ‘स्वर्ग से संकेत’ मिले थे और बताया कि यहां ‘चमत्कारी घर’ था। डीएसपी रवि मोहना चैरी ने के मुताबिक, ‘जब हम घर में घुसे तो उन्होंने हमें बताया कि एक चमत्कार होने वाला था। उन्होंने हमें बताया कि सुबह होने वाले जादू के बाद पूरी दुनिया के बारे में बात की जाएगी।’ दंपति मेहर बाबा, साईं बाबा और रजनीश या ओशो के अनुयायी थे। अपराध स्थल पर, मेहर बाबा की एक तस्वीर मिली थी और सोशल मीडिया पर मृतक बेटी के हालिया पोस्ट ने उनके आध्यात्मिक झुकाव की पुष्टि की है।

Popular posts
महाकाल मंदिर परिसर में 9 दरवाजे रहेंगे, बेगम बाग के नाले पर बने मकान 15 मार्च से हटेंगे, आधा अपंगआश्रम मार्ग चौड़ीकरण कि जद में आएगा, महाकाल मंदिर चौराहा मार्ग 24 मीटर चौड़ा होगा, 128 करोड़ का मुआवजा मार्ग चौड़ीकरण में प्रभावितों को दिया जाएगा
Image
डराने लगा है कोरोना, महिला जज, प्रोफेसर पति पत्नी,, कॉलेज के प्राचार्य सहित 19 पॉजिटिव,
Image
कोरोना फिर निकला नगर भ्रमण पर पॉजिटिव आने वालों में बिल्डर ,अधिवक्ता शिक्षक ,इंजीनियर और छात्रा शामिल
Image
देश के 50 धार्मिक स्थलों में से महाकाल मंदिर भी अब बनेगा चाईल्ड फ्रेंडली, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग नईदिल्ली द्वारा चयनित
Image
उज्जैन लोकायुक्त ने बिल्डर सहित नगर निगम के चार अधिकारियों पर FIR दर्ज की
Image