जिले में अब तक 64 हजार 175 व्यक्तियों को कोरोना का टीका लगा, 20 मार्च को एक दिन में 10 हजार 360 व्यक्तियों का टीकाकरण किया गया, मंगल, शुक्र, रवि व शासकीय अवकाश को छोड़कर हो रहा है टीकाकरण*

 


उज्जैन । उज्जैन जिले में शहर एवं ग्रामीण क्षेत्र में मिलाकर 107  वैक्सीनशन सेंटर्स पर  कोरोना वेक्सीन का टीकाकरण किया जा रहा है। शनिवार 20 मार्च को एक दिन में जिले में 10 हजार 360 व्यक्तियों को टीका लगाया गया, जो लक्ष्य का 70 प्रतिशत है। बड़ी संख्या में वरिष्ठजन टीका लगवाने केंद्रों पर पँहुच रहे है। जिले में टीकाकरण सेंटर्स  में  मंगलवार, शुक्रवार, रविवार एवं शासकीय अवकाश को छोड़कर प्रात: 9 बजे से शाम 5 बजे तक टीकाकरण किया जा रहा है।


कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने स्वास्थ्य विभाग एवं महिला बाल विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे वरिष्ठजनों के लिये निर्धारित टीकाकरण के लक्ष्य की प्राप्ति करने के लिये युद्धस्तर पर कार्य करें। वर्तमान में दो लाख 25 हजार 678 के लक्ष्य के विरूद्ध 35 हजार 203 वरिष्ठजनों को ही टीका लगाया गया है। कलेक्टर ने जिले के वरिष्ठ नागरिकों एवं उनके परिजनों का आव्हान किया है कि वे अधिक से अधिक संख्या में निकट के वेक्सीनेशन सेन्टर में जाकर टीकाकरण करवायें और कोरोना से स्वयं को सुरक्षित करें। 


जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.केसी परमार ने बताया कि जिले में कोरोना वेक्सीनेशन का लक्ष्य दो लाख 73 हजार 808 निर्धारित है। इसके विरूद्ध 64 हजार 175 व्यक्तियों को प्रथम डोज का टीका लग गया है। सेकंड डोज में 14 हजार 337 व्यक्तियों द्वारा टीकाकरण करवाया गया है। जिले के हैल्थ केयर वर्कर्स में 92.91 प्रतिशत एवं फ्रंटलाइन वर्कर्स में 93.9 प्रतिशत व्यक्तियों द्वारा टीकाकरण करवा लिया गया है। वरिष्ठजनों का टीकाकरण का प्रतिशत अभी भी कम है।


      जिले में निवासरत ऐसे वरिष्ठजन जिनका जन्म वर्ष 1961 में या इसके पूर्व हुआ है वे कोरोना वेक्सीन लगवाने के पात्र हैं। वे वेक्सीनेशन सेन्टर पर आधार कार्ड की या अन्य पहचान पत्र की  फोटोकापी लेकर बिना किसी परेशानी के वेक्सीन लगवा सकते हैं। इसी तरह 45 से 59 वर्ष के गंभीर बीमारी से ग्रसित व्यक्ति भी वेक्सीनेशन करवा सकते हैं। बीमारी से ग्रस्त व्यक्तियों को निर्धारित प्रारूप में मेडिकल काउंसिल में रजिस्टर्ड डॉक्टर (एमबीबीएस/एमडी/एमएस डॉक्टर) का प्रमाणीकरण साथ में ले जाना होगा।


जिले में 58 स्वास्थ्य संस्थाओं सहित कुल 107 टीकाकरण केन्द्र


जिले की कुल 58 स्वास्थ्य संस्थाओं में कोविड टीकाकरण किया जा रहा है। इनमें सिविल अस्पताल बड़नगर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र इंगोरिया, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र घटिृया, सिविल अस्पताल नागदा, सिविल अस्पताल खाचरौद, सिविल अस्पताल महिदपुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र झारड़ा, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तराना, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नरवर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ताजपुर, कैंसर युनिट, सिविल अस्पताल जीवाजीगंज, कॉलेज सिविल डिस्पेंसरी छत्रीचौक, सिविल अस्पताल माधवनगर, पुलिस लाईन, चेरिटेबल हॉस्पिटल, आर.डी.गार्डी मेडिकल कॉलेज, सी.एच.एल. हॉस्पिटल, जे.के.हॉस्पिटल, संजीवनी हॉस्पिटल, सहर्ष हॉस्पिटल, पाटीदार हॉस्पिटल, एस.एस.गुप्ता हॉस्पिटल, तेजनकर हॉस्पिटल, इन्दूभाई पारिख हॉस्पिटल, गीता हॉस्पिटल, अशोक हॉस्पिटल, कन्या स्कूल माधवनगर और नगर पालिक निगम में कोविड टीकाकरण सत्रों का आयोजन किया जा रहा है। 


ग्रामीण क्षेत्र में स्थापित किये गये नवीन टीकाकरण केंद्र


जिले के ग्रामीण क्षेत्र में कुल 49 टीकाकरण केंद्र स्थापित किए गए हैं इनमें बड़नगर तहसील में ग्राम आमला, असावता, पलदुना, खरसोदखुर्द, चिरोलाकला, नवादा, पीपलू, नरसिंगा घटिया तहसील में पलसोड़ा,  धरेरी  अंबो दिया व सोलन खाचरोद तहसील में बरखेडा जावरा , बटलावदी, बरखेड़ा मांडन , बेरछा  , भैंसोला ,चिरोला ,घिनोदा केसरिया ,लेकोडा अंजना व पतलासी  महिदपुर तहसील में निपानिया राजू, डुंगरखेड़ा, नारायणा, शक्करखेड़ी, खेड़ाकासोन, घोंसला उज्जैन तहसील में पिपलोदा द्वारकाधीश, बमोरा, तालोद, राघौपिपलिया, हरसोदन  ,लेकोडा ,भैसोंदा  , सुरजनवासा , तराना तहसील में डेलची , भडसिम्बा , दुबली  ,कतवारिया ,खामली, दुधली ,  डाबड़ा राजपूत, गोदड़ी सुमराखेड़ा,  कचनारिया , तराना  शहर में पाटीदार अस्पताल टीकाकरण केंद्र बनाए गए है ।