बेहद डरावने है, अप्रैल में मौत के आंकड़े,,,अब तक के रिकॉर्ड टूटे,,, 35 मौत होने से हड़कंप मचा

 बेहद डरावने है, अप्रैल में मौत के आंकड़े,,,अब तक के रिकॉर्ड टूटे,,, 35 मौत होने से हड़कंप मचा



उज्जैन। कोरोना के बडते प्रकोप से सांसे थमने की रफ्तार भी अप्रैल महीने में रिकॉर्ड तोड़ रही मार्च 2020 मैं देश में कोरोना की शुरुआत हुई थी जो सितंबर 2020 में पीक पर पहुंचने के बाद धीरे धीरे कोरोना का प्रभाव कम होने लगा था। लेकिन मार्च 2021 में कोरोना ने फिर रफ्तार पकड़ी और पीड़ितों की संख्या में वृद्धि के साथ-साथ मौत के आंकड़े भी बेहद डरावने है। मार्च 2020 से मार्च 2021 तक क्रमशः उज्जैन जिले में 3, 29, 26, 13, 3, 5 ,14 , 3 , 3,1, 3 , 0  और 6 मौतें _हुई_ कुल मिलाकर 1 वर्ष में 109 मृत्यु जिले में कोरोना से हुई। जिसमें अप्रैल 2020 में 29 मई 2020 में 26 का आंकड़ा सर्वाधिक था ।अनेक महीनों में तो 1  ,3 या 5 ही मृत्यु हुई लेकिन अप्रैल 2021 में अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ कर 27 दिनों में 35 मौत हो चुकी है ( कोरोना संदिग्ध मरीजों की मौत जो शासकीय बुलेटिन का हिस्सा नहीं है उसका आंकड़ा अप्रैल माह में होने वाली मौतों से कहीं ज्यादा है) 27 दिनों में 35 मौत से जिले में हड़कंप मचा हुआ है। इनमें 11 मौत ऐसी है जो 50 वर्षों से कम उम्र के मरीजों की हुई है।

Popular posts
ओ माय गॉड,,,, महाकाल में नौकरी और करतूत इतनी गंदी,,,,,,
Image
अमलतास हॉस्पिटल में पत्रकार सम्मान व कॉकलियर इम्प्लांट ऑपरेशन किया गया।
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image