सही वक्त पर प्रशासन का सही निर्णय,,,,,,,रेमडेसीविर इंजेक्शन भी कोविड केअर सेंटर में लगेंगे

 गंभीर मरीजों के लिए बेड उपलब्ध कराने के लिए

जिन मरीजों को ऑक्सीजन की आवश्यकता नहीं

उन्हें कोविड केअर सेंटर में शिफ्ट किया जाएगा 

 


रेमडेसीविर  इंजेक्शन भी कोविड  केअर  सेंटर में लगेंगे 


उज्जैन 23 अप्रैल  । कलेक्टर  श्री  आशीष सिंह  ने आज  बृहस्पति  भवन में चरक अस्पताल , माधव नगर अस्पताल ,ऑर डी गार्डी  एवं अमलतास में कोविड का उपचार कर रहे  चिकित्सा विशेषज्ञों की बैठक लेकर कहा कि  इन अस्पतालों में  सीरियस पेशेंटस के लिए बेड उपलब्ध कराने के लिए ऐसे भर्ती मरीज जिनको ऑक्सीजन नहीं लग रही है व  एक या दो रेमडेसीविर के इंजेक्शन लग चुके हैं का  डाउनशिफ्टिंग करते हुए जिला प्रशासन द्वारा प्रारंभ किए गए पीटीएस एवं प्रशांति गार्डन के कोविड  केअर  सेंटर में  शिफ्ट किया जाए ।इन पेशेंट्स को लगने वाले शेष  रेमडेसीविर के इंजेक्शन प्राथमिकता के आधार पर इन्हीं केयर सेंटर में उपलब्ध करवाकर लगाए जाएं। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री सत्येन्द्र कुमार शुक्ल ,  निगम  आयुक्त  श्री  क्षितिज सिंघल  , अपर कलेक्टर  श्री  सुजानसिंह रावत , मुख्य चिकित्सा एवम स्वास्थ्य अधिकारी  डॉ महावीर खण्डेलवाल  मौजूद थे । 


        कलेक्टर ने बैठक में मौजूद  सभी चिकित्सकों को कहा है  कोविड हॉस्पिटल से  डाउनशिफ्ट  होने वाले  मरीजो की   पी टी एस एवं  प्रशांति गार्डन के कोविड केअर सेंटर में बेहतर देखभाल होगी  वँहा डॉक्टर्स की टीम लगाई गई है ।  किसी तरह की कोई समस्या नहीं आएगी ।  कलेक्टर ने कहा कि ऑक्सीजन की आवश्यकता वाले गंभीर मरीजों कोऑक्सीजन बेड उपलब्ध हो  यह सुनिश्चित  किया जाना चाहिए। कलेक्टर ने आरआरटी टीम को  डाउन शिफ्टिंग के लिए तत्पर रहने के निर्देश दिए हैं ।

               बैठक में शासकीय अस्पतालों एवं ऑर गार्डी में  ऑक्सीजन की उपलब्धता  की समीक्षा की गई ।  कलेक्टर ने आश्वस्त किया है कि सभी  अस्पतालों  को ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी । उन्होंने शासकीय चिकित्सालय में  बाइपेप  मशीन क्रय करने के लिए भी प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश सीएमएचओ को दिए हैं जिससे  आईसीयू की संख्या भी बढ़ाई जा सके ।कलेक्टर ने कहां है कि चरक अस्पताल को भी माधव नगर चिकित्सालय के स्तर का अस्पताल बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं ।उन्होंने यह कार्यरत चिकित्सकों को  बेहतर सेवाएं देने एवं बेहतर मानकों का पालन करने के लिए कहा है ।


****

Popular posts
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
उज्जैन के अश्विनी शोध संस्थान में मौजूद हैं 2600 साल पुराने सिक्के
Image
उज्जैन के विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर परिसर में बिना अनुमति के युवती द्वारा वीडियो बनाकर वायरल किए जाने पर प्रकरण पंजीबद्ध
Image