कलेक्टर ने तराना के सिविल हॉस्पिटल का निरीक्षण कर स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया, तराना में शीघ्र ही आइसोलेशन वार्ड तैयार होगा,

 कलेक्टर ने तराना के सिविल हॉस्पिटल का निरीक्षण कर स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया, तराना में शीघ्र ही आइसोलेशन वार्ड तैयार होगा, 


उज्जैन 19 अप्रैल। कलेक्टर श्री आशीष सिंह एवं पुलिस अधीक्षक श्री सत्येन्द्र कुमार शुक्ल ने आज तराना नगर का दौरा कर तराना के सिविल हॉस्पिटल में जाकर स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया। कलेक्टर ने यहां पर अतिशीघ्र आइसोलेशन वार्ड तैयार करने के लिये सभी आवश्यक उपकरण प्रदाय करने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिये हैं। कलेक्टर ने साथ ही तराना के ग्रामीण क्षेत्र के लोगों से अपील की है कि वे अनावश्यक रूप से शहरी क्षेत्र में आवागमन न करें और कोरोना के संक्रमण से बचें। कलेक्टर ने इसके बाद लक्ष्मीपुरा के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण भी किया। भ्रमण में एसडीएम श्रीमती एकता जायसवाल एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.महावीर खंडेलवाल मौजूद थे।

*90 प्रतिशत से अधिक टीकाकरण करवाने वाली आंगनवाड़ी अथवा आशा कार्यकर्ता को 10 हजार रुपये का इंसेंटिव दिया जायेगा*

कलेक्टर ने तराना भ्रमण के दौरान टीकाकरण कार्य की समीक्षा भी की तथा निर्देश दिये कि किसी भी ग्राम में यदि आंगनवाड़ी कार्यकर्ता या आशा कार्यकर्ता लक्ष्य के 90 प्रतिशत से अधिक टीकाकरण करवाती है तो उसे रेडक्रॉस से 10 हजार रुपये का इंसेंटिव दिया जायेगा। साथ ही उन्होंने जनपद पंचायत सीईओ को निर्देशित किया है कि 90 प्रतिशत से अधिक टीकाकरण करवाने वाले ग्रामों को खेत सड़क योजना का लाभ दिया जाये।

निरीक्षण के दौरान अनुविभागीय दण्डाधिकारी श्रीमती एकता जायसवाल ने कलेक्टर को जानकारी दी कि कोरोना पॉजीटिव आये हुए परिवार व पॉजीटिव व्यक्ति के बाजार में घूमते पाये जाने पर थाना प्रभारी को तत्काल उनके विरूद्ध महामारी अधिनियम में प्रकरण दर्ज करने के निर्देश दिये गये हैं। साथ ही पॉजीटिव आये हुए परिवारों व व्यक्तियों से सम्पर्क के लिये विकास खण्ड स्तरीय दल का गठन किया गया है। दल के प्रभारी प्रतिदिन पॉजीटिव व्यक्तियों से दूरभाष पर चर्चा करते हैं तथा उन्हें कोई चिकित्सकीय आवश्यकता होती है तो वह पूरी करवायेंगे। उन्होंने बताया कि वर्तमान में तराना अनुभाग में कोरोना से 277 एक्टिव मरीज हैं। इनमें से 165 लोग होम क्वारेंटाईन हैं। इसी तरह अब तक 107 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं। सभी पॉजीटिव मरीजों को दवाईयों का किट उपलब्ध करवाया जा रहा है और यदि उन्हें मेडिकल की सहायता की आवश्यकता होती है तो तत्काल सुविधा प्रदान की जा रही है।


तराना अनुविभाग में 4 फर्जी डॉक्टरों के विरूद्ध कार्यवाही क्लिनिक बन्द करवाये*

उज्जैन 19 अप्रैल। तराना अनुभाग के ग्राम करंज, करेड़ी, नैनावद तथा तराना नगर में फर्जी डॉक्टरों द्वारा क्लिनिक चलाकर संदिग्ध कोविड मरीजों का उपचार किया जा रहा था। एसडीएम श्रीमती एकता जायसवाल के निर्देश पर उक्त सभी क्लिनिक की जांच की गई एवं तत्काल प्रभाव से क्लिनिक बन्द करवा दिये गये हैं। एसडीएम ने बताया कि तराना के बीएचएमएस, बीएएमएस डॉक्टर्स की बैठक कर उनको सर्दी-जुकाम के मरीजों का प्रारम्भिक उपचार करने के निर्देश दिये गये हैं, जिससे कि चिकित्सकों की कमी न पड़े। साथ ही इन उपाधिप्राप्त चिकित्सकों को कहा गया है कि जैसे ही कोविड बीमारी के लक्षण मरीज में प्रकट हों, विकास खण्ड चिकित्सा अधिकारी से सम्पर्क कर उनकी जांच करवाना सुनिश्चित की जाये।


क्रमांक 1299​ एचएस शर्मा/जोशी

Popular posts
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
उज्जैन के अश्विनी शोध संस्थान में मौजूद हैं 2600 साल पुराने सिक्के
Image
उज्जैन के विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर परिसर में बिना अनुमति के युवती द्वारा वीडियो बनाकर वायरल किए जाने पर प्रकरण पंजीबद्ध
Image