प्रशासन की छूट का यह कैसा उन्माद,,,,,,,,,शादी और मातम का अंतर समझना जरूरी है

 उज्जैन। जिला प्रशासन ने आज शुरू होने जा रही शादियों के लिए कुछ चिन्हित दुकानों को सुबह 8:00 बजे से 12:00 बजे तक खोलने के निर्देश जारी किए थे ।निर्देश के मुताबिक कपड़ों की दुकानें और ज्वेलर्स की दुकानों को सिर्फ उन ग्राहकों के लिए खोला जा सकता था जिनके यहां शादी है , इसके लिए उन्हें अपने साथ शादी की पत्रिका रखना थी , यह पत्रिका दुकानदार को दिखाने के बाद ही उन्हें सामान दिया जाना था, हालांकि यह आदेश लागू करना इतना आसान नहीं था क्योंकि शहर की सैकड़ों दुकानों पर मानिटरिंग की कोई व्यवस्था का प्लान प्रशासन के पास नहीं था, जिसका फायदा उठाकर प्रशासन की इस छूट का वेजा लाभ उठाते हुए शहर के दुकानदारों ने न सिर्फ कपड़े और ज्वेलरी की दुकान खोली बल्कि कई तरह के प्रतिष्ठान पूरी तरह खोले गए, और खरीददारों ने भी जमकर खरीदी की ।कमरी मार्ग छत्री चौक, गोपाल मंदिर ,सती गेट और मालीपुरा में भारी भीड़ एकत्रित हुई। शादी और मातम का अंतर शायद खरीदारी करने वाले कथित समझदार नागरिक समझ नहीं पा रहे हैं।

शहर के फ्रूट मार्केट और सब्जी मार्केट भी पूर्व की तरह बेखौफ होकर खोले जा रहे हैं जबकि इन्हें भी फेरी लगाकर बेचने की अनुमति थी


Popular posts
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
उज्जैन के अश्विनी शोध संस्थान में मौजूद हैं 2600 साल पुराने सिक्के
Image
उज्जैन के विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर परिसर में बिना अनुमति के युवती द्वारा वीडियो बनाकर वायरल किए जाने पर प्रकरण पंजीबद्ध
Image