शादी कार्यक्रम में अधिकतम 20 लोगों के शामिल होने की अनुमति रहेगी, कार्यक्रम स्थल पर ही कोरोना के टेस्ट कराया जाएगा

 

1 जून से MP अनलॉक ...शर्तें लागू:शादी में वर-वधू पक्ष से 10-10 लोगों की अनुमति लेकिन टेस्ट जरूरी; प्रदेश में धारा-144 लागू रहेगी, इंदौर-भोपाल में अभी कम छूट मिलेगी


कोरोना के केस कम होने के बाद मध्य प्रदेश में अब अनेक जिलों को अनलॉक किया जाने की प्रक्रिया 1 जून से शुरू होने जा रही है प्रदेश के मुख्यमंत्री ने इस हेतु दिशा निर्देश जारी की है लेकिन कोरोना फिर रफ्तार ना पकडे इसके लिए भी अनेक कदम उठाए जाएंगे, गुरुवार को फिर भोपाल में गृहमंत्री की मौजूदगी में हाई पावर मीटिंग होगी और बहुत कुछ निर्णय इस मीटिंग में लिए जाने की उम्मीद है।

मध्य प्रदेश में 1 जून से अनलॉक की शुरुआत होगी,  प्रदेश में धारा 144 लागू रहेगी। वैवाहिक कार्यक्रमों की अनुमति दी जाएगी, लेकिन दोनों पक्षों से 10-10 से ज्यादा लोग शामिल हो सकेंगे। । अनलॉक के संबंध में विचार-विमर्श के लिए गुरुवार को गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा की अध्यक्षता मंत्री समूह की बैठक होगी।


मुख्यमंत्री ने बुधवार देर शाम जनता को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि कोरोना का खतरा टला नहीं है। इंदौर व भोपाल में सावधानी की जरुरत है। दोनों जिलों में कोरोना के पॉजिटिव केस आ रहे हैं। रतलाम, सीधी में भी ध्यान देने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि अभी लंबा रास्ता तय करना है, लेकिन कर्फ्यू अनंतकाल तक नहीं रह सकता। हमने तय किया है कि 1 जून से धीरे-धीरे आर्थिक गतिविधियां शुरू करेंगे।


उन्होंने कहा कि तीसरी लहर के लिए सावधान रहने की जरुरत है। यदि असवाधान रहे, बड़े पैमाने पर आयोजन होने लगे और भीड़ जुटने लगी, तो संक्रमण को फैलने में देर नहीं लगेगी। इसलिए कोरोना कर्फ्यू धीरे-घीरे खुलेगा। गांव में ग्राम, ब्लाॅक और जिले की क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप तय करेंगे। हमने इसके लिए रोडमैप तैयार किया है।


वैवाहिक कार्यक्रम में होगी टेस्टिंग

मुख्यमंत्री ने कहा कि शादी कार्यक्रम में अधिकतम 20 लोगों के शामिल होने की अनुमति रहेगी। इसके साथ ही कार्यक्रम स्थल पर ही कोरोना के टेस्ट कराया जाएगा। क्योंकि यदि संक्रमण बढ़ा तो फिर दिक्कत होगी।


एक केस भी मिला तो माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाएंगे

हर राेज 75 हजार का टेस्ट का टारगेट रहेगा। संक्रमण की दर कम हो गई है, ऐसे में ट्रेसिंग संभव है। किसी एक की रिपोर्ट पॉजिटिव आएगी, तो परिवार का टेस्ट किया जाएगा। एक केस मिलने पर माइक्रो कंटेनमेंट जाेन बनाकर प्रतिबंध भी लगाए जाएंगे।



जिले की परिस्थितियों के हिसाब से निर्णय होंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि हर जिले की अलग-अलग परिस्थितियां हैं। कहीं कोरोना पूरी तरह से नियंत्रित हो गया है, तो कहीं केस हर दिन कम-ज्यादा हो रहे हैं। भोपाल-इंदौर जैसे बड़े जिलों में अभी ज्यादा केस आ रहे हैं। ऐसे में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप को इन सभी पहलुओं पर विचार कर निर्णय लेना चाहिए।

30-31 मई को होगी बैठक

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि जिला, ब्लॉक व गांव स्तर पर बनी क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुपों की बैठक 30-31 मई तक कर निर्णय लें कि 1 जून से क्या खुलेगा और क्या बंद रहेगा? उन्होंने कलेक्टरों से कहा है कि इन ग्रुपों की बैठकें समय पर हो जाएं, यह सुनिश्चित कर लिया जाए।


नियम बनेंगे

मुख्यमंत्री नियम ने कहा कि प्रदेश में कौन सी गतिविधियां चालू रहेंगी? बाजारों में भीड़ रोकने के लिए नियम बनाए जाएंगे, ताकि संक्रमण फिर ना फैले। उन्होंने लोगों से अपील की है कि 1 जून के बाद छूट मिलने पर घर से बाहर निकलने के बाद मास्क लगाएं।

Popular posts
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन के विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर परिसर में बिना अनुमति के युवती द्वारा वीडियो बनाकर वायरल किए जाने पर प्रकरण पंजीबद्ध
Image
रावण दहन भी अब ऑनलाइन
Image
अपराधियों के खिलाफ उज्जैन पुलिस ने जनता से मदद मांगी,,,,जनता से शांतिदूत हेल्पलाइन से जुड़ने की अपील ,,अपराधिक गतिविधियों के संबंध में दे सकते हैं,,, सूचना सूचनाकर्ता का नाम रखा जावेगा गोपनीय
Image