89 दिन बाद रात में एक भी फोन और मिस कॉल नहीं आया,,, आर आर टीम के नोडल अधिकारी डॉक्टर रौनक एलची ने मालव क्रांति से साझा की यह सुखद जानकारी

 

उज्जैन। कोरोना मरीजों की घटती संख्या को लेकर भले ही असमंजस हो लेकिन अस्पतालों में भर्ती मरीजों की संख्या और आरआर टीम के पास पहुंचने वाले फोन कॉल्स से अंदाजा लगाया जा सकता है कि शहर में कोरोना अब कंट्रोल में है। आरआर टीम के संभाग के नोडल अधिकारी डॉक्टर रौनक एलची ने जानकारी देते हुए बताया कि पिछले 3 मार्च 2021 से दूसरी लहर आने के बाद प्रतिदिन सैकड़ों कॉल रिसीव किए हैं, यहां तक की रात को 4:00 बजे बाद जब तीन 4 घंटे की नींद लेने घर पहुंचे तब भी लगातार कोरोना मरीजों के फोन कॉल्स आते रहे हैं,


लेकिन पहली बार,89 दिन में 30 मई की रात से 31 मई की सुबह तक रात को  एक भी फोन कॉल्स नहीं आया, यहां तक की किसी ने कोरोना को लेकर कोई बात भी नहीं की
, यह सबसे सुखद अवसर था जब रात की तीन-चार घंटे की नींद में से उठने के बाद मोबाइल में कोई मिस कॉल भी नहीं था, निश्चित तौर पर डॉक्टर रौनक एलची का यह सुखद अनुभव इस बात की ओर इशारा कर रहा है कि शहर में और शहर के साथ-साथ जिले और संभाग में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या अब कंट्रोल में है, ऐसा ही रहा तो आने वाले दिनों में संभाग कोरोना मुक्त हो जाएगा।

Popular posts
बेटे के वियोग में गीत बनाया , बन गया प्रेमियों का सबसे अमर गाना
Image
ये दुनिया नफरतों की आखरी स्टेज पर है  इलाज इसका मोहब्बत के सिवा कुछ भी नहीं है ,मेले में सफलतापूर्वक आयोजित हुआ मुशायरा
उज्जैन के अश्विनी शोध संस्थान में मौजूद हैं 2600 साल पुराने सिक्के
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
नवनियुक्त मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव को उज्जैन तथा अन्य जिलों से आए जनप्रतिनिधियों कार्यकर्ताओं और परिचितों ने लालघाटी स्थित वीआईपी विश्रामगृह पहुंचकर बधाई और शुभकामनाएं दी
Image