ओ साथी रे,,तेरे बिना भी क्या जीना,,,,,, कोरोना से जंग हार गए पति-पत्नी

 



उज्जैन। देवास के अमलतास अस्पताल में 5 दिन में पति और पत्नी दोनों की मौत होने के बाद परिवार का आरोप है कि अस्पताल में बाहर से ऑक्सीजन मंगवाई  जा रही थी। प्राप्त जानकारी के मुताबिक ग्राम हरनिया खेड़ी में रहने वाले हरिनारायण चौहान और रेशमा बाई चौहान की तबीयत अप्रैल के अंतिम सप्ताह में खराब हुई, जांच करवाने पर   कोरोना की पुष्टि हुई ,1 मई को तबीयत बिगड़ने पर हरिनारायण को देवास के अमलतास अस्पताल में आईसीयू में भर्ती किया गया जहां 3 मई को उसकी मृत्यु हो गई । 3 मई को ही हरि नारायण की पत्नी रेशमा बाई को भी इसी अस्पताल में सांस लेने में दिक्कत के चलते भर्ती किया गया था, जिस दिन रेशमा बाई को भर्ती किया गया उसी दिन पति की मौत हो गई ,मौत के बाद लाश देख कर सदमे में रेशमा बाई की हालत भी बिगड़ती चली गई । 5 दिन बाद 8 मई को पत्नी की भी मौत हो गई ।भोपाल में रहने वाले दामाद ने बताया कि पति पत्नी में आपस में बहुत प्रेम था और कभी भी एक दूसरे से अलग नहीं हुए ,उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि अस्पताल में बाहर से ऑक्सीजन मंगवाई जा रही थी.

Popular posts
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
उज्जैन के अश्विनी शोध संस्थान में मौजूद हैं 2600 साल पुराने सिक्के
Image
उज्जैन के विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर परिसर में बिना अनुमति के युवती द्वारा वीडियो बनाकर वायरल किए जाने पर प्रकरण पंजीबद्ध
Image