कोरोना का,,,,, राम नाम सत्य है,,,,,,, होने में अभी देर है,,,,, बच्चों पर मंडरा रहा है कोरोना का खतरा

 उज्जैन जिले में कोरोना पॉजिटिव आने वालों की संख्या में विशेष कमी नहीं हुई है पॉजिटिव आने वालों की दर अभी भी 14% बनी हुई है ,12 मई को पॉजिटिव आने वालों में सभी वर्ग के लोग शामिल थे, 7 दिन बाद जिले में 2 मौत कोरोना से होना बताई गई उज्जैन निवासी 41 वर्षीय पुरुष जिसे इलाज के लिए 9 मई को भर्ती किया गया था और तराना निवासी ,70 वर्षीय महिला जिसे इलाज के लिए 12 मई को ही भर्ती किया गया था दोनों की मौत कोरोना से होना बताई गई।

12 मई को पॉजिटिव आने वालों में अधिवक्ता ,कांट्रेक्टर, शिक्षक, एमपीईबी कर्मी ,कैदी, पुलिसकर्मी, छात्र ,बैंक कर्मी, रेलवे कर्मी, शासकीय कर्मचारी, नेवी में कार्यरत युवक, बड़ी संख्या में व्यापारी ,हाउसवाइफ, प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारी शामिल है आरडी गर्दी मेडिकल कॉलेज का एक डॉक्टर भी पॉजिटिव आया है। इसके अतिरिक्त 10 साल तक के 10 बच्चे भी कोरोना पॉजिटिव आए हैं।


चक्रतीर्थ की कहानी कुछ अलग है

यह चित्र चक्रतीर्थ उज्जैन का है 12 मई को एक अंतिििम संस्कार में बड़ीी संख्याा मैं लोग मौजूद थे 

 इधर चक्रतीर्थ के आंकड़े कुछ और कहानी बता रहे हैंउज्जैन ।कोरोना संक्रमण से मरने वालों के आंकड़े स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए जाने वाले हेल्थ बुलेटिन से भले ही गायब हो ,लेकिन वास्तविकता इससे परे है, 1 मई से 11 मई तक जिले में हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक 4 मई को 2 मौत हुई थी, 5 मई को भी 2 मौत दर्ज की गई, 11 दिन में मात्र 4 मौत कोरोना से होना बताई गई। 5 मई के बाद पिछले 6 दिनों में एक भी मौत कोरोना से होना नहीं बताया गया, जबकि त्रिवेणी स्थित मोक्षधाम और चक्रतीर्थ पर प्रतिदिन कोरोना पॉजिटिव मरीजों की लाश अंतिम संस्कार के लिए पहुंच रही है।12मई को भी मोक्ष धाम में   12 डेड बॉडी पहुंची थी ,इनमें से 3 कोरोना पॉजिटिव और दो कोरोना संदिग्ध की मौत बताई गई ,इन 5 लाशों का अंतिम संस्कार सीएनजी में किया गया, इसी प्रकार चक्रतीर्थ पर भी रिकॉर्ड के मुताबिक 4 लाशों का अंतिम संस्कार कॉविड 19 के प्रोटोकॉल के तहत किया गया ।चक्रतीर्थ सहायक एवं परमार्थिक न्यास द्वारा जारी की जाने वाली रसीद पर बकायदा इसकी एंट्री की गई है ।सूत्रों के मुताबिक चक्रतीर्थ उज्जैन पर उज्जैन, देवास, महिदपुर और आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से डेड बॉडी अंतिम संस्कार के लिए लाई जाती है।  12 मई को चक्रतीर्थ पर 17 अंतिम संस्कार किए जा चुके थे। इनमें से 4 कोरोना पॉजिटिव बताए गए ,चक्रतीर्थ पर जानकारी लेने पर वहां मौजूद कर्मचारियों ने बताया कि मई में अंतिम संस्कार की संख्या कुछ कम हुई है, अंतिम संस्कार के लिए यहां 52 प्लेटफार्म मौजूद हैं और 8 नए प्लेटफार्म बनाए जा रहे हैं,आनंद टाकले,रेणु खत्री और गोविंद सारिका जान पर खेलकर यहां ड्यूटी दे रहे हैं ।कुछ कर्मचारियों को कोरोना से बचाव के लिए दो डोज टीके के लगाए जा चुके हैं ,जबकि कुछ कर्मचारी अभी वेटिंग में है यहां कोरोना पॉजिटिव मरीजों के लिए अंतिम संस्कार के लिए इलेक्ट्रॉनिक शव निस्तारण व्यवस्था पिछले 1 माह से बंद है, बताया जाता है कि अप्रैल महीने में बड़ी संख्या में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की  डेड बॉडी का अंतिम संस्कार किए जाने के कारण इलेक्ट्रिक क्वाइल खराब हो जाने से इलेक्ट्रॉनिक तरीके से कॉविड 19 मरीजों का अंतिम संस्कार पिछले 1 माह से बंद है। और इस दौरान लकड़ी कंडो में ही अंतिम संस्कार किया जा रहा है।

Popular posts
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image
122 साल पुराने उज्जैन के नक्शे को आधार बनाकर,,, तालाबों की जमीन हड़पने वालों पर शिकंजा कसेगा,,, उज्जैन जिलाधीश के निर्देश से जमीन पर कब्जा करने वालों में हड़कंप मचा
Image
उज्जैन के विश्वप्रसिद्ध महाकाल मंदिर परिसर में बिना अनुमति के युवती द्वारा वीडियो बनाकर वायरल किए जाने पर प्रकरण पंजीबद्ध
Image
रावण दहन भी अब ऑनलाइन
Image
अपराधियों के खिलाफ उज्जैन पुलिस ने जनता से मदद मांगी,,,,जनता से शांतिदूत हेल्पलाइन से जुड़ने की अपील ,,अपराधिक गतिविधियों के संबंध में दे सकते हैं,,, सूचना सूचनाकर्ता का नाम रखा जावेगा गोपनीय
Image