ओमीक्रॉन की शहर में No ENTRY के लिए,,,,,महाकालेश्वर मंदिर एवं मेले में प्रवेश के पूर्व वैक्सीन के दोनों डोज लगवाना जरूरी,,,, मंदिर एवं मेलो के स्थान पर वैक्सीनेशन की टीम तैनात होगी

 




कोरोना के वेरियेंट ओमीक्रॉन से सम्बन्धित प्रमुख तथ्य एवं की जाने वाली कार्यवाही


      उज्जैन एक दिसम्बर। जिला स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में कोरोना के नये वेरियेंट ओमीक्रॉन से सम्बन्धित विभिन्न तथ्यों की जानकारी दी गई एवं आगामी समय में जिले में की जाने वाली कार्यवाही के सम्बन्ध में रूपरेखा तय की गई, जो इस प्रकार है :-


* कोरोना का ओमीक्रॉन वेरियेंट 9 नवम्बर 2021 को बोत्सवाना में पहचाना गया। यह वेरियेंट पिछली बार हुए संक्रमणों से उत्पन्न हुई पुरानी इम्युनिटी को भेद सकता है। यह वेरियेंट डेल्टा एवं अन्य वेरियेंट की तुलना में पांच गुना अधिक तेजी से फैलता है। इसलिये आमजन मास्क अनिवार्य रूप से पहनें।


*कोरोना के ओमीक्रॉन वेरियेंट एवं अन्य वेरियेंट पर वेक्सीन प्रभावी रहता है। वेक्सीन लगाने के बाद व्यक्ति को अस्पताल जाने की आवश्यकता कम पड़ती है एवं वेक्सीनेटेड व्यक्तियों की मृत्यु दर भी कम रहने की उम्मीद है। इसलिये वेक्सीन की दो खुराक अनिवार्य रूप से लेना आवश्यक है।


* जिले में वेक्सीन के सेकंड डोज अभी तक 76. 91 प्रतिशत लोगों ने लगवाया है, शेष लोगों को तत्काल सेकंड डोज लगाया जाना चाहिये। जिला स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी ने कहा है कि जो लोग जानबूझ कर सेकंड डोज का टीका नहीं लगवा रहे हैं, उनको पुलिस के माध्यम से टीकाकरण केन्द्रों तक बुलवाया जाये।


*  क्राइसिस  मैनेजमेन्ट समिति ने श्री महाकालेश्वर मंदिर एवं उज्जैन शहर में आयोजित होने वाले कार्तिक एवम हस्तशिल्प  मेले  में प्रवेश के पूर्व  वैक्सीन के   दोनों डोज लगवा कर आने  की  अनिवार्यता करने का निर्णय लिया है  । मंदिर एवं मेलो  के स्थान पर वैक्सीनेशन की टीम तैनात की जाएगी । मन्दिर एवम मेलो में उन्हीं लोगों को प्रवेश दिया जाएगा जिन लोगों ने  दोनों डोज लगवा लिये है। 


*टीकाकरण के सेकंड डोज का लक्ष्य 26 दिसम्बर तक पूर्ण किया जाना है। कलेक्टर ने सभी जनप्रतिनिधियों को सेन्टरवार बचे हुए व्यक्तियों की सूची प्रदान करने के निर्देश जिला टीकाकरण अधिकारी को दिये हैं, जिससे व्यापक अभियान चलाकर सभी को टीका लगवाया जा सके।

* उज्जैन जिला सेकंड डोज लगवाने के मामले में प्रदेश में पांचवे स्थान पर है।

*जिले में कोरोना की जांच आरटीपीसीआर के माध्यम से करने के निर्देश दिये गये हैं। *आरटीपीसीआर के माध्यम से ओमीक्रॉन की प्रारम्भिक रूप से पहचान की जा सकती है।


*जिला स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी ने कहा कि वर्तमान में लोग मास्क कम लगा रहे हैं। मास्क लगाने के लिये पुन: लोगों को प्रेरित किया जाये एवं इस पर आवश्यकता होने पर सख्ती की जायेगी।

Popular posts
इंदौर में कोरोना ब्लास्ट,हर दूसरा सैंपल पॉजिटिव
Image
जिलाधीश बंगले के समीप रहने वाले अधिकारी सहित 5 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, 3 को लग चुके थे बूस्टर डोज, आने वाले दिनों में स्थिति और भी बिगड़ सकती है
Image
भोले नाथ की शरण में पहुंचे कमलनाथ, कांग्रेस प्रत्याशियों के पक्ष में ली आमसभा
Image
राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस के मौके पर वैकल्पिक चिकित्सक संघ द्वारा आयोजित 13 वाॅ अखिल भारतीय चिकित्सक सम्मान समारोह 1 जुलाई को स्थानीय कालिदास अकादमी उज्जैन में सम्पन्न हुआ...
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image