11 वीं सदी के विशाल श्री महाकालेश्वर मंदिर के अवशेष और गर्भगृह अभी भी मलबे में दबा होने से इसकी सफाई की आवश्यक इसलिए सती माता का चबूतरा विधि विधान से स्थानांतरित

 



उज्जैन । श्री महाकाल महाराज परिसर विस्तार योजना के तहत विगत दिनों महाकाल मंदिर परिसर के बाहर शिखर दर्शन के विकास हेतु चल रही खुदाई के दौरान प्राचीन मंदिर के पूरा अवशेष प्राप्त हुए थे ।कलेक्टर श्री आशीष सिंह द्वारा उक्त पूरा अवशेष की जांच करवाने हेतु पुरातत्व अभिलेखागार एवं संग्रहालय भोपाल से आग्रह किया गया था।


     उपसंचालक उत्खनन पुरातत्व विभाग ने बताया कि पुरातत्व संचालनालय के तकनीकी दल के पर्यवेक्षण में साइंटिफिक डेबरिस क्लेरेंस का कार्य किया गया। इसमें 11 वीं सदी के विशाल मंदिर के अवशेष प्रकाश में आए हैं ।उक्त पुरातन विशाल मंदिर का गर्भगृह अभी भी मलबे में दबा होने से इसकी सफाई की जाना आवश्यक है ।मलबे के ठीक ऊपर बने हुए सती माता के चबूतरे को इस आवश्यक कार्य के लिए स्थानांतरित किए जाने का अनुरोध पुरातत्व विभाग द्वारा पत्र लिखकर किया गया ।


    इस तारतम्य में आज 2 फरवरी को एसडीएम श्री गोविंद दुबे , तहसीलदार सूश्री पूर्णिमा सिंघी , नगर निरीक्षक श्री मुनेंद्र गौतम की उपस्थिति में सती माता चबूतरे को विधि विधान से पूजन अर्चन उपरांत महाकालेश्वर मंदिर समिति द्वारा उपलब्ध कराए गए स्थान ( यज्ञशाला के निकट )स्थानांतरित कर दिया गया है .यह जानकारी एडीएम श्री संतोष टैगोर द्वारा दी गई।

Popular posts
कॉमेडी किंग राजू श्रीवास्तव का निधन
Image
श्री महाकालेश्वर कॉरिडोर का अद्भुत नजारा
Image
ब्रेकिंग,,,,,,,,नयापुरा के जैन परिवार पर आफत का पहाड़ टूटा, सलूजा नर्सिंग होम में भर्ती बहू से परिवार में संक्रमण आने की आशंका जताई
शहर के नौनिहाल आज पर फोकस कर नित नए कीर्तिमन रच रहे हैं, हाल ही में शहर में आयोजित हुई माइंड पॉवर अबेकस की राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में बच्चों ने इतिहास रच दिया
Image
उज्जैन में परिवार में फेल रहा है संक्रमण, बड़ी संख्या में पति पत्नी और बाप बेटे संक्रमित,,,, फेसबुक पर जारी की गई एक पोस्ट ने रेंगटे खड़े कर दिए
Image