कैबिनेट की बैठक में फिर बदला महाकाल कॉरिडोर का नाम,,,,, अब इसे,, महाकाल लोक,,, के नाम से जाना जाएगा, आजादी के बाद पहली बार उज्जैन में हुई प्रदेश सरकार के कैबिनेट की बैठक

 


उज्जैन.आजादी के बाद पहली बार शिवराज में मध्य प्रदेश सरकार की कैबिनेट की बैठक उज्जैन में हुई ,बैठक में सबसे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने स्वयं को और अन्य सभी मंत्रियों को सेवक बताते हुए कहा कि यहां के राजा महाकाल है हम सब सेवक हैं। बैठक में अनेक महत्वपूर्ण प्रस्ताव पारित किए गए इनमें सबसे महत्वपूर्ण प्रस्ताव श्री महाकालेश्वर कॉरिडोर के नाम को लेकर पारित हुआ ,महाकाल कॉरिडोर को अब महाकाल लोक के नाम से जाना जाएगा ,इस महाकाल लोक को सवारने में 856 करोड रुपए खर्च होंगे, पहला चरण 351 करोड रुपए खर्च कर पूर्ण कर लिया गया है जिसका लोकार्पण देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी 11 अक्टूबर को करने जा रहे हैं ,उक्त जानकारी कैबिनेट की बैठक के बाद प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पत्रकारों को देते हुए बताया कि शिप्रा मैया अविरल बहती रहे इसके लिए भी सैद्धांतिक सहमति बनी है उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कमलनाथ सरकार में सिर्फ सिर्फ योजनाएं बनती थी उन्हें धरातल पर लाने का काम भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने किया है, उज्जैन में हुई पहली कैबिनेट की बैठक में अनेक अन्य प्रस्ताव भी पारित हुए हैं।


महत्वपूर्ण निर्णय


- 351 करोड़ से निर्मित महाकालेश्वर कॉरिडोर को महाकाल लोक के नाम से जाना जाएगा , दूसरे चरण के काम भी जल्द शुरू होंगे। 

- 11 अक्टूबर को पीएम मोदी इसका  लोकार्पण करेंगे। 

-  हवाई पट्टी का विस्तारीकरण होगा, 80 करोड़ की लागत से ये काम होगा।

- 11 की जगह 37 पद वाला पुलिस बैंड होगा। नए पद स्वीकृत

- शिप्रा अविरल बहती रहे, इसके लिए प्रोजेक्ट बनाने की सेद्धांतिक स्वीकृति। रिवर फ्रंट की तर्ज पर घाट विस्तार होगा। 

- स्वच्छता लीग में एमपी का पहला स्थान आया है, नगरीय प्रबंधन व सबसे क्लीन सिटी में इंदौर नंबर 1, उज्जैन .......

- मुख्यमंत्री उद्यमी योजना में उम्र वृद्धि की गई। अहर्ता भी 8वी कर दी गई।

- जल जीवन मिशन में प्रदेश के 22 जिले के 90197 गावो में 17 हजार करोड़ रुपए की सतही नल जल योजना स्वीकृत।

Popular posts
फेसबुक गैंग के गुंडे दुर्लभ कश्यप की हत्या
Image
तेजरफ्तार बस हुई दुर्घटनाग्रस्त, 3 की मौत, करीब 10 से 12 घायल
Image
महापौर मधुकर वर्मा के कांग्रेस की परिषद थी, महापौर थे मधुकर वर्मा तब भी चलता था लेनदेन का खेल ,,, निगम के इंजीनियरों ने रिश्वत की राशि के लिए बना रखा था गंगाजलि फंड
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
गोवर्धन सागर को अतिक्रमण से मुक्त कराने की कार्रवाई प्रारंभ हुई, 35अतिक्रमण हटाए गए, 28 दुकाने और 7 मकान तोड़े गये
Image