ये दुनिया नफरतों की आखरी स्टेज पर है  इलाज इसका मोहब्बत के सिवा कुछ भी नहीं है ,मेले में सफलतापूर्वक आयोजित हुआ मुशायरा

 


उज्जैन : कार्तिक मेले में नगर पालिक निगम द्वारा आयोजित अखिल भारतीय मुशायरा सफ़लता पूर्वक सवेरे तक चलता रहा, जिसमें शायरों ने अपनी शायरी से रात भर श्रोताओं को आनंदित किया। 
        मुशायरे का आरंभ नाते पाक से हुआ, मशहूर अंतरराष्ट्रीय शायर नईम अख़्तर ने अपनी मीठी आवाज़ में नात पढ़ कर माहौल को रूहानी बना दिया। इसके बाद शायरी का जो सिलसिला शुरू हुआ उसमें इस्माईल नज़र और अज़ीम देवासी के बाद वसीम राजुपूरी, हामिद भुसांवली, अल्तमश अब्बास, असरार चंदरवी, खालिद नय्यर, एजाज़ अंसारी आदि ने अच्छी शायरी पढ़ कर श्रोताओं का दिल जीत लिया। भोपाल के विजय तिवारी और लखनऊ से पधारे अंतरराष्ट्रीय शायर सरदार चरणसिंह बशर की शायरी ने श्रोताओं को बहुत प्रभावित किया। दोनों की शायरी में विभिन्न मानवीय भावनाओं, संवेदनाओं का समावेश था जिसने सीधे श्रोताओं को प्रभावित किया। 
सरदार चरणसिंह बशर का हर शेर खूब सराहा गया, उन्होंने पढ़ा कि - 
*ये दुनिया नफरतों की आखरी स्टेज पर है*- 
*इलाज इसका मोहब्बत के सिवा कुछ भी नहीं है*  


*आग लगाने वालों ये भी याद रहे*- 
*आग नहीं ये देखेगी घर किसका है* 


सुप्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय शायर मंज़र भोपाली, माजिद देवबन्दी, नईम अख़्तर और निकहत अम्रोहवी अहमद अल्वी, नज्म हसन और डॉ फरीद खान ने अपने अपने अंदाज़ अपनी भूमिका निभाते हुए मुशायरे की सफ़लता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। मुशायरे की निज़ामत बेंगलौर के शफीक आब्दी ने की। 
      आरंभ में शायरों व अतिथियों का स्वागत संयोजक मुज़फ्फ़र हुसैन, सह संयोजक सलीम भाई कबाड़ी, ज़फ़र अहमद सिद्दीकी, अमजद ख़ान, गुलनाज नासिर खान और सचिव पी आर ओ अहमद रईस निज़ामी  ने किया । 
       पी आर ओ निज़ामी ने उज्जैन के दिवंगत शायर मरहूम असीम उज्जैनी और अख़्तर ग्वालियरी की याद से इस मुशायरे को समर्पित करने का उल्लेख करते हुए दोनों ही शायरों के कुछ शेर पेश करके उन्हें याद किया और उनकी आत्मशांति की प्रार्थना की।


Popular posts
बेटे के वियोग में गीत बनाया , बन गया प्रेमियों का सबसे अमर गाना
Image
शहर के प्रसिद्ध चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सुरेश समधानी द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या किए जाने की कोशिश
Image
स्थानकवासी समाज के समाजसेवी सरदारमल राठौर का निधन
नवनियुक्त मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव को उज्जैन तथा अन्य जिलों से आए जनप्रतिनिधियों कार्यकर्ताओं और परिचितों ने लालघाटी स्थित वीआईपी विश्रामगृह पहुंचकर बधाई और शुभकामनाएं दी
Image