इंदौर में दूध के लिए आपाधापी,डेयरियों पर भीड़ जमा ,लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पाठ भूल गए


इंदौर. कोरोनावायरस से बचने के लिए देशभर में जारी 21 दिन के लॉकडाउन के बावजूद इंदौर में आम लोग लापरवाही करते रहे। नतीजा यह हुआ कि शहर में संक्रमितों की संख्या 24 हो गई। शहर में अब कोरोना की स्टेज-3 आ चुकी है यानी वायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा है। इसी वजह से इंदौर में 1 अप्रैल तक देश का सबसे सख्त लॉकडाउन लागू किया गया है। सोमवार सुबह जब इसकी शुरुआत हुई तो किराने की दुकानें बंद रहीं। होम डिलीवरी भी नहीं हुई। स्वयंसेवी संस्थाओं को चौराहों पर जाकर खाना बांटने से रोक दिया गया। शहर में पुलिस, प्रशासन, हेल्थ वर्कर्स, मेडिकल स्टोर्स और मीडिया को छोड़कर किसी को भी बाहर निकलने की इजाजत नहीं है। कई इलाकों में दूध भी नहीं बंटा। बाद में प्रशासन ने थोड़ी राहत देते हुए कहा कि सुबह 6 से 9 बजे और शाम से 5 से 7 बजे तक दुकानों से दूध मिलेगा। इसके बाद सोमवार शाम को 5 बजे दूध के लिए आपाधापी मच गई। डेयरियों पर भीड़ जमा हो गई और लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पाठ भूल गए


Popular posts
बेटे के वियोग में गीत बनाया , बन गया प्रेमियों का सबसे अमर गाना
Image
उज्जैन कलेक्टर के खाते में एक और बड़ी उपलब्धि,,,130 करोड़ रुपये कीमत की 3 हेक्टेयर जमीन शासकीय हुई,,,,पूर्णिमा सिंघी, प्रमोद चौबे और श्री राम हंस यह है तीन आधार स्तंभ जिनकी मेहनत और सच्चाई रंग लाई
Image
11 वर्षो से महाकालेश्वर से बोरेश्वर महादेव की यह यात्रा अनवरत जारी है
इस स्वतंत्रता दिवस, चलिए प्लास्टिक से होते हैं स्वतंत्र
Image
वदतु संस्कृतं, जयतु भारतं,,,,,,,,, संस्कृत एवं भारतीय संस्कृति को समूचे विश्व में फैलाना है, महर्षि पाणिनि संस्कृत विश्वविद्यालय का प्रथम दीक्षांत समारोह सम्पन्न,
Image