बड़ी खबर,,,,,,भाजपा पार्षद की कोरोना से मौत, भोजन बांटने वाली संस्थाओं में हड़कंप मचा



उज्जैन। समाज सेवा करना एक पार्षद को भारी पड़ गया और उन्हें अपनी जान से हाथ धोना पड़ा, प्राप्त जानकारी केे अनुसार वार्ड क्रमांक 32 के पार्षद मुजफ्फर हुसैन लगातार भोजन वितरित करने का कार्य कर रहे थे। इसी बीच वे संक्रमित हुए और उन्हें आरडी गार्डी अस्पताल में उपचार के लिए भेजा गया था। पार्षद मुजफ्फर हुसैन का आज दुखद निधन हो गया। उनके निधन से शहर में भोजन वितरित करने वालों में हड़कंंंंंप मच गया है क्योंकि शहर में अनेक संस्थाएं भोजन वितरण का काम अपनी जान हथेली पर लेकर कर रहीी है प्रशासन द्वाराा उन्हें किसी भी प्रकाार की सुरक्षा उपलब्ध नहीं कराााई गई है। शहर में 20 से अधिक समाज सेवी संस्थाएं भोजन वितरण काा कार्य कर रहीी है सेवाा धाम आश्रम इनमें प्रमुख है


पार्षद विजयसिंह दरबार ने राज्य सरकार से की मांग,कोरोना योद्धा भाई मुजफ्फर हुसैन को दिया जाए शहीद का दर्जा


महामारी कोरोना के कारण वार्ड क्रमांक 32 के पार्षद श्री मुजफ्फर हुसैन का दुखद निधन हो गया है। श्री हुसैन सच्चे जनसेवक होने के साथ ही जनता के दुख दर्द का निदान करने में हमेशा आगे रहते थे। कोरोना संक्रमण से हुई श्री हुसैन के निधन पर वार्ड क्रमांक 47 के पार्षद विजय सिंह दरबार ने राज्य सरकार से मांग हे कि इन्हें शहीद का दर्जा देने के साथ ही इनके परिवार को 50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता और परिवार के एक सदस्य को शासकीय नौकरी दी जाए। क्योंकि पार्षद श्री हुसैन कोरोना जैसी महामारी के दौरान जनसेवा करते हुए कोरोना से संक्रमित हुए थे। साथ ही आपने मांग की है कि आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज पर कोरोना संक्रमित के इलाज को तुरंत रोका जाए और कोरोना का ईलाज इंदौर किसी अच्छे अस्पताल में करवाया जाए। आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज इलाज के दौरान हो रही  लापरवाही की  जांच करवा कर  इस मेडिकल कॉलेज पर  कड़ी से कड़ी कार्रवाई करते हुए  इसका मेडिकल  कॉलेज का लाइसेंस  तत्काल प्रभाव से निरस्त  किया जाए।*


Popular posts
बेटे के वियोग में गीत बनाया , बन गया प्रेमियों का सबसे अमर गाना
Image
ये दुनिया नफरतों की आखरी स्टेज पर है  इलाज इसका मोहब्बत के सिवा कुछ भी नहीं है ,मेले में सफलतापूर्वक आयोजित हुआ मुशायरा
पूर्व मंत्री बोले सरकार तो कांग्रेस की ही बनेगी
Image
नवनियुक्त मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव को उज्जैन तथा अन्य जिलों से आए जनप्रतिनिधियों कार्यकर्ताओं और परिचितों ने लालघाटी स्थित वीआईपी विश्रामगृह पहुंचकर बधाई और शुभकामनाएं दी
Image
उज्जैन के अश्विनी शोध संस्थान में मौजूद हैं 2600 साल पुराने सिक्के
Image